Republic Day Essay 2022: 26 जनवरी, रिपब्लिक डे पर हिन्दी में निबंध

0
8
Republic Day Essay 2022 26 January Essay on Republic Day in Hindi
Republic Day Essay 2022 26 January Essay on Republic Day in Hindi

प्रस्तावना : मित्रो जैसा कि हम सभी जानते है कि हर वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाने वाला गणतंत्र दिवस, भारत का एक बहुत बड़ा राष्ट्रीय पर्व है, जिसे प्रत्येक भारतवासी पूरे उत्साह, जोश और सम्मान के साथ मनाता है। यह भारत का राष्ट्रीय पर्व होने के नाते इसे हर धर्म, संप्रदाय और जाति के लोगो द्वारा मनाया जाता है। चूँकि हम सभी जानते है कि डॉ. बी.आर. अंबेडकर की अध्यक्षता में भारतीय संविधान के प्रारूप को सदन में रखा गया। जिसके फलस्वरूप 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन में संविधान बनकर तैयार हुआ। आखिरकार बेसब्री से इंतजार की घड़ी 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू होने के साथ ही खत्म हुई।

Republic Day Essay 2022 26 January Essay on Republic Day in Hindi
Republic Day Essay 2022 26 January Essay on Republic Day in Hindi

भारत का इतिहास?

सन 26 जनवरी सन 1950 को हमारे देश को पूर्ण स्वायत्त गणराज्य घोषित किया गया था। जिसके पश्चात हमारा संविधान लागू हुआ था। और यही कारण है कि प्रत्येक वर्ष दिनांक 26 जनवरी को भारत का मनाया जाता है चूँकि यह दिन किसी विशेष धर्म, जाति या संप्रदाय से न जुड़कर राष्ट्रीयता से जुड़ा है, इसलिए देश में रहने वाले सभी लोग इसे राष्ट्रीय पर्व के तौर पर मनाते है।

गणतंत्र दिवस के आयोजन

भारत की राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर विशेष आयोजन होते हैं। भारत के प्रधानमंत्री द्वारा इंडिया गेट पर शहीद ज्योति का अभिनंदन करने के साथ ही प्रधानमंत्री द्वारा उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए जाते हैं। 26 जनवरी के दिन विशेष रूप से दिल्ली के विजय चौक से लाल किले तक होने वाली परेड लोगो के लिए आकर्षण का प्रमुख केंद्र होती है, जिसमें देश और विदेश के गणमान्य जनों को आमंत्रित किया जाता है।
इस परेड में हमारी भारतीय सेना के तीनो प्रमुख द्वारा राष्ट्रपति को सलामी दी जाती है एवं सेना द्वारा प्रयोग किए जाने वाले हथियार, प्रक्षेपास्त्र एवं शक्तिशाली टैंकों का प्रदर्शन किया जाता है और इस परेड के माध्यम से हमारे तीनो सेनाओ के सैनिकों की शक्ति और पराक्रम के सौर्य गाथा को बताया जाता है।
गणतंत्र दिवस के इस खास दिन पर देश के सभी सरकारी संस्थानों एवं शिक्षण संस्थानों में इस दिन ध्वजारोहण, झंडा वंदन करने के पश्चात राष्ट्रगान जन-गन-मन का गायन होता है। और शिक्षण संस्थानों में देशभक्ति से जुड़े विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। देशभक्ति गीत, भाषण, चित्रकला एवं अन्य प्रतियोगिताओं के साथ ही हमारे देश के वीर सपूतों को नमन कर उन्हें याद भी किया जाता है जिसके पश्चात वंदे मातरम, जय हिन्दी, भारत माता की जय के उद्घोष के साथ पूरा वातावरण देशभक्ति से खुद को गर्भान्वित महसूस करने लगते है।

उपसंहार

देश के स्कूल, कॉलेजों में विद्यार्थी नृत्य, गायन, परेड, खेल, नाटक, भाषण(republic day speech), निबंध लेखन, सामाजिक अभियानों में मदद के द्वारा, स्वतंत्रता सेनानियों को याद करके उनके किरदार निभाकर उनके संदेश को आमजन तक पहुंचाते हुए इस उत्सव को मनाया जाता है। गांव से लेकर शहरों तक, राष्ट्रभक्ति के गीतों की गूंज सुनाई देती है और प्रत्येक भारतवासी एक बार फिर अथाह देशभक्ति से भर उठता है।

देश के बच्चों में इस दिन को लेकर बेहद उत्साह होता है। इस दिन आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले प्रतिभाशाली विद्यार्थ‍ियों का सम्मान एवं पुरस्कार वितरण भी किया जाता है। जिसके बाद मिठाई वितरण भी विशेष रूप से होता है। इस दिन को हर भारतीय को अपने देश में शांति बनाए रखते तथा भारत को विकसित बनाने की प्रतिज्ञा लेकर उस पर अमल करना चाहिए।

close

Oh hi there ????
It’s nice to meet you.

Sign up to Receive Awesome Content in your Inbox

We don’t spam! Read our privacy policy for more info.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here